बक्सर : लूटकांड को अंजाम देने वाले एक दर्जन शातिर अपराधी असलहे संग गिरफ्तार

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

न्यूज रूम

 

प्रदेश आजतक : जिले में लगातार हो रही लूट और छिनैती की घटनाओं का भंडाफोड़ करते हुए गिरोह के 12 सदस्यों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली है. घटनाओं को अंजाम देने वाले सभी नए अपराधी हैं. जिसके कारण भंडाफोड़ करने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी. जबकि, गिरफ्तार अपराधियों में दो किशोर भी शामिल हैं. अपराधियों के पास से पुलिस ने लूट का दस हजार रुपया भी बरामद किया है. इसका खुलासा करते सदर डीएसपी सतीश कुमार ने बताया कि जिले में लगातार हो रही लूट की घटनाएं पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई थी.

जिसके खुलासे के लिए पुलिस लगातार प्रयासरत थी. बावजूद इसके पुलिज़ को सफलता नहीं मिली. दरअसल, सभी अपराधियों में शामिल अधिकांश स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र थे. जिसके कारण पुलिस को इतनी देर लगी. लूट और छिनैती की घटनाओं को अंजाम देने वाले गिरोह का नेतृत्व नैनीजोर का हिस्ट्रीशीटर विपुल तिवारी और मित्रलोक कॉलोनी निवासी कुख्यात रोहन ठाकुर संयुक्त रूप से करते थे. इनके गिरोह में कुल छह सदस्य थे, जिनमें नया बाजार का कुंदन कुमार और दीपू के अलावा पीसी कॉलेज निवासी एवं चीनी मिल निवासी दो स्कूली छात्र भी शामिल थे. इस दौरान मित्रलोक कॉलोनी के कुख्यात आलोक ठाकुर तथा रोहन ठाकुर को हथियार समेत गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से दो कट्टा, दो  गोली, 1 पिस्टल 2 गोली, 2 बाइक के अलावा लूटी गई राशि में से नगद 10 हज़ार रुपये बरामद किया गया है.

ये हैं गिरफ्तार अपराधियों के नाम:

गिरफ्तार अपराधियों में मित्रलोक कॉलोनी का रोशन कुमार उर्फ दिलजले, आलोक ठाकुर, छोटकी नैनीजोर के विपुल तिवारी, पीसी कॉलेज के समीप के का एक किशोर नया बाज़ार का एक किशोर, चीनीमिल का निवासी जयप्रकाश कुमार, नया बाजार तांतों मुहल्ला के निवासी ताहिर अंसारी, नया बाज़ार के तौकीर उर्फ डिश, श्रवण यादव, पांडेय पट्टी के सिद्धार्थ कुशवाहा, रोहित दूबे डुमराँव के चाणक्यापुरी मोहल्ला के आदित्य पाठक हैं.

बैंक से पैसे निकालते ही मिल जाती थी सूचना:

गिरोह में लाइनर की भूमिका निभाने वाला युवक इन सबसे अलग दिनारा क्षेत्र का निवासी है. जिसे किसी प्रकार बैंक से मोटी रकम निकालने वालों के बारे में पहले ही सूचना मिल जाती थी. जिसे वो श्रवण, ताहिर और मुनमुन को पास कर देता था. इन तीनों की भूमिका सिर्फ इतनी थी कि सूचना के बाद बैंक जाकर पैसा निकालने वालों के पीछे लग जाते थे और उनके बाइक का नम्बर, रंग आदि की जानकारी गिरोह को दे दिया करते थे. जिसके बाद मुख्य गिरोह की भूमिका लूट के लिए शुरू होती थी और मौका मिलते ही गिरोह लूट को अंजाम दे देता था.

गिरोह में दो किशोर शामिल

इनके गिरोह में दो किशोर उम्र के लड़के भी शामिल हैं. जिनमें से एक शहर के प्रतिष्ठित स्कूल के नवमी कक्षा का छात्र है जबकि, दूसरा दसवीं कक्षा का छात्र है. नवमी कक्षा के छात्र ने ही बाबा नगर में सीएसपी संचालक से लूट के दौरान कैश लूटने के साथ ही भागते समय फायरिग करने का काम किया था. हालांकि, इसके अलावा अभी तक दोनों के विरूद्ध पुलिस रिकार्ड में कोई केस दर्ज नहीं पाया गया है, वैसे पुलिस अभी फाइलों को खंगाल रही है.

हथियारों की सप्लाई करने में तौकीर गिरफ्तार:

नया बाजार में गत वर्ष जिम संचालक पर की गई गोलीबारी की घटना अभी तक शायद कोई भूला नहीं होगा. जब चारों तरफ से घेर कर जिम संचालक नया बाजार निवासी तौकीर साह उर्फ डिश को गैंगवार में सात गोलियां लगी थी. जिम संचालन की आड़ में तौकीर साह अपराधियों को घटना को अंजाम देने के लिए बाइक और हथियार आदि उपलब्ध कराता था. जिसके एवज में उसे प्रति घटना की सफलता के बाद सहज ही दस से बीस हजार रुपये मिल जाते थे. पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अपराधियों द्वारा खुलासा किए जाने के बाद उसे भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...